Home National Char Dham Yatra 2024: भारी बारिश के चलते रुकी 4 धाम यात्रा, जारी हुई एडवाइजरी

Char Dham Yatra 2024: भारी बारिश के चलते रुकी 4 धाम यात्रा, जारी हुई एडवाइजरी

by Pooja Attri
0 comment
char dham

Char Dham Yatra 2024: उत्तराखंड के कई हिस्सों में भारी बारिश के चलते लोगों का दैनिक जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. यहां लगातार हो रही बारिश से भूस्खलन होने की संभावना जताई जा रही है.

09 July, 2024

Char Dham Yatra 2024: भारी बारिश ने उत्तराखंड के कई हिस्सों में दैनिक जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है. लगातार होती बारिश से कई जगह से लैंडस्लाइड की खबरें सामने आ रही हैं. बद्रीनाथ की ओर जाने वाले नेशनल हाइवे समेत मुख्य सड़कों पर आवाजाही बंद है. उत्तराखंड सरकार ने चारधाम यात्रियों से बारिश थमने तक आगे ना बढ़ने की अपील की है.

क्यों रोकी गई 4 धाम यात्रा?

राज्य आपदा प्रबंधन के सेक्रेटरी विनोद कुमार सुमन ने बताया कि चार धाम यात्रा एक दिन के लिए रोकी गई थी, क्योंकि बारिश बहुत ज्यादा हो रही थी. अब हमारी चार धाम यात्रा चल रही है सुचारू रूप से उसको रोका नहीं जाएगा. लेकिन, अगर बरसात होती है तो लोगों को एडवाइज किया जाता है कि लोग यात्रा पर ना निकलें और ना ही ट्रेवल करें. दरअसल, बरसात के कारण पत्थर गिरने का डर रहता है. इससे मलबा नीचे आने का डर रहता है. बरसात के समय यात्रा करना एडवाइजेबल बिल्कुल नहीं होता. उसमें थोड़ा सा खतरा रहता है.

बॉलीवुड और एंटरटेनमेंट से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

बारिश में यात्रा करना जोखिम से भरा

रामनगर जिले में भी भारी बारिश से सड़कों पर नदियां बहने लगी हैं. इन्हें पार करना खतरे से खाली नहीं है. रामनगर के स्थानीय निवासी ने कहा कि यह बरसाती नाला है पर इसमें रिस्क लेना अपनी जान को जोखिम में डालने के बराबर होता है. अगर आप नाले को देखकर इसमें गाड़ी चलाने की सोच रहे हैं तो आप गलत हैं. हम आपको यही सलाह देंगे कि अपनी जान को जोखिम में ना डालें और थोड़ी देर बरसाती नाले के कम होने का इंतजार करें. ऐसा करने से आपकी जान सुरक्षित रहेगी.

उत्तराखंड सरकार का राहत और बचाव कार्य

ऋषिकेश में घाट पूरी तरह से डूब गए हैं. उत्तराखंड के रुद्रपुर में निचले इलाकों में पानी भर गया है. यहां पर फंसे लोगों को बचाने के लिए SDRF की 4 टीमें लगाई गईं. कई लोगों को बचाने के लिए नावों का इस्तेमाल किया गया. SDRF की टीम का बनबसा क्षेत्र में रेस्क्यू ऑपरेशन लगातार जारी है. उधम सिंह नगर और चंपावत जिलों में भी राहत और बचाव का काम चल रहा है. उत्तराखंड सरकार ने सूबे के सभी जिलाधिकारियों को इमरजेंसी हालात में तुरंत कदम उठाने और बाढ़ या लैंडस्लाइड से प्रभावित लोगों के लिए राहत और बचाव कार्य तेजी से चलाने के लिए हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश जारी किए हैं.

राजनीति और अन्य विषयों से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें: खराब मौसम बना बाधा, रोकी गई अमरनाथ यात्रा; तीर्थयात्रियों को जम्मू से कश्मीर घाटी जाने की नहीं मिल रही अनुमति

You may also like

Leave a Comment

Feature Posts

Newsletter

Subscribe my Newsletter for new blog posts, tips & new photos. Let's stay updated!

@2023 Live Times News – All Right Reserved.
Are you sure want to unlock this post?
Unlock left : 0
Are you sure want to cancel subscription?
-
00:00
00:00
Update Required Flash plugin
-
00:00
00:00