Home National हरियाणा में सीएम फेस पर बनी बात, मायावती ने अभय सिंह चौटाला पर लगाई मुहर

हरियाणा में सीएम फेस पर बनी बात, मायावती ने अभय सिंह चौटाला पर लगाई मुहर

by Rashmi Rani
0 comment
हरियाणा में सीएम फेस पर बनी बात, मायावती ने अभय सिंह चौटाला पर लगाई मुहर

Haryana Assembly Elections 2024: BSP नेता आकाश आनंद ने INLD के साथ हरियाणा में गठबंधन के एलान के बाद कहा कि अगर हमें सफलता मिलती है तो अभय सिंह चौटाला को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा.

11 July, 2024

Haryana Assembly Elections 2024: हरियाणा में इसी साल विधानसभा चुनाव (Assembly Elections 2024) होने जा रहा है. ऐसे में अब सियासी गलियारों में चर्चाएं तेज हो गई हैं. इसी बीच गुरुवार को INLD और BSP ने गठबंधन कर लिया. इसको लेकर औपचारिक एलान भी कर दिया गया है. इसके साथ सीएम फेस को लेकर भी बात बन गई है. इस बात का भी एलान कर दिया गया है कि अगर इस गठबंधन को जीत मिलती है तो अभय सिंह चौटाला को ही मुख्यमंत्री बनाया जाएगा.

सीटों को लेकर हुई चर्चा

BSP नेता आकाश आनंद ने गठबंधन के एलान के बाद कहा कि 6 जुलाई को अभय चौटाला और मायावती के बीच विस्तार से सीटों पर चर्चा हुई थी. 90 में से 37 सीटों पर BSP और बाकी सीटों पर INLD चुनाव लड़ेगी. आकाश आनंद ने कहा कि अगर हमें सफलता मिलती है तो अभय सिंह चौटाला को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा. INLD और BSP के गठबंधन का मुख्यमंत्री चेहरा अभय चौटाला हैं. वहीं, आकाश आनंद ने हरियाणा के कानून व्यवस्था को लेकर भी बात की. उन्होंने सीएम नायब सिंह सैनी (Nayab Singh Saini) पर निशाना साधते हुए कहा कि हमने चीजों को बेहतर तरीके से संभाला, लेकिन अभी हरियाणा में अपराधियों को सरकार का संरक्षण प्राप्त है.

मुफ्त बिजली का किया वादा

वहीं, अभय सिंह चौटाला (Abhay Singh Chautala) ने कहा कि हम जनता के लिए काम करेंगे. उन्होंने मुफ्त बिजली और स्वच्छ पेयजल देने का वादा किया. अभय सिंह चौटाला ने कहा कि हम नए मीटर लगवांगे, जिससे बिजली का बिल 500 रुपये से कम होगा. इसके साथ ही हम फ्री बिजली देने के लिए बड़े पैमाने पर सौर ऊर्जा संयंत्र लगाएंगे. 

1996 में पहली बार किया था गठबंधन

देश की राजधानी दिल्ली से सटे हरियाणा में INLD और BSP ने प्रदेश में तीसरी बार हाथ मिलाया है. इससे पहले वर्ष 1996 के लोकसभा चुनाव के दौरान INLD और BSP के बीच पहली बार गठबंधन हुआ था. इस चुनाव में INLD ने 7 और BSP ने 3 सीटों पर उम्मीदवार मैदान में उतारे थे. INLD ने कुरुक्षेत्र, हिसार, सिरसा और भिवानी सीट पर जीत दर्ज की, जबकि BSP प्रत्याशी को अंबाला सीट पर जीत मिली थी. वर्ष 2018 में भी गठबंधन हुआ. इसी बीच, एक नाटकीय घटनाक्रम में इनेलो दोफाड़ हो गई और गठबंधन बरकरार नहीं रह सका.

यह भी पढ़ें : Kisan Andolan 2024 : फिर शुरू होगा किसानों का ‘महा’ आंदोलन, क्या बढ़ेगी दिल्ली-NCR के लोगों की मुश्किल

You may also like

Leave a Comment

Feature Posts

Newsletter

Subscribe my Newsletter for new blog posts, tips & new photos. Let's stay updated!

@2023 Live Times News – All Right Reserved.
Are you sure want to unlock this post?
Unlock left : 0
Are you sure want to cancel subscription?
-
00:00
00:00
Update Required Flash plugin
-
00:00
00:00